IAS कैसे बने ? आईएएस की तैयारी कैसे करे ?

नमस्कार दोस्तों, देश की सबसे बड़ी सेवा यानी भारतीय प्रशासनिक सेवा के बारे में तो हर कोई जानता हैं। IAS बनने के लिए आखिर विद्यार्थीं क्या करते हैं ? क्या आपने कभी सोचा हैं की आप IAS कैसे बन सकते हैं ? 

अगर आप इन सब के बारे में नहीं जानते हैं तो आपको इस लेख के माध्यम से इसकी पूरी जानकारी दी जायेगी इस के साथ ही आपको IAS की तैयारी कैसे करे ? के बारे में भी बताया जाएगा।

IAS कैसे बने ?

IAS यानी जिसे हम हमारा सामान्य भाषा में कलेक्टर कहते हैं, कैसे बने ? यह एक काफी महत्वपूर्ण और गंभीर सवाल हैं। आज का युवा जो स्कूल और कॉलेज में पढ़ रहा हैं वो सबसे पहले इसी सवाल के बारे में सोचता हैं की क्या IAS बनना आसान हैं ? 

वैसे आईएएस बनना इतना मुश्किल नही जितना हमे लगता हैं बस जरूरत होती हैं तो मेहनत करने की। आईएएस बनने के संघ लोक सेवा आयोग दुवारा आयोजित होने वाली सिविल सेवा परीक्षा को पास करना होती हैं। 

IAS बनने के लिए होने वाला एग्जाम

भारत में आईएएस बनने ने लिए हर साल एक एग्जाम होता हैं। इस एग्जाम को सिविल सेवा परीक्षा के नाम से जाना जाता हैं। इस परीक्षा को हर साल संघ लोक सेवा आयोग दुवारा आयोजित करवाया जाता हैं। इस परीक्षा के लिए हर साल लाखों अभियार्थी आवेदन करते हैं और इस परीक्षा का हिस्सा बनते हैं। अब जानते हैं इस परीक्षा के बारे में जानकारी की आखिर इस परीक्षा को पास करने के लिए किस प्रकार के मापदंड होते हैं जिन्हें पूरा करना होता हैं। 

सिविल सेवा परीक्षा के लिए योग्यता 

देश में आयोजित होने वाली इस परीक्षा के लिए कुछ योग्यताएं निम्न हैं। इस परीक्षा के लिए जरुरी योग्यता – 

  • जो भी अभियार्थी इस परीक्षा के लिए आवेदन करना चाहता हैं वो इस स्नातक की परीक्षा पान होना जरुरी हैं।
  • इसके अलावा आवेदक की आयु 21 साल से 32 साल की होनी चाहिए। आयु के अलावा इसमें आवेदक को नियमानुसार छूट भी दी जाती हैं जो की 2 साल, 5 साल इतियादी की होती हैं। 
  • इसके अलावा आवेदक भारत का मूल निवासी होना चाहिए। 
  • आवेदक किसी भी भाषा में आवेदन कर सकता हैं हिंदी या अंग्रेजी दोनों में से किसी एक में। 

यह हैं इस परीक्षा के लिए जरुरी योग्यता जो एक आवेदन अगर पूरी करता हैं वो तो इस परीक्षा का हिस्सा बन सकता हैं।

सिविल सेवा परीक्षा के चरण 

आईएएस की परीक्षा के लिए मुख्य रूप से 3 चरण निर्धारित हैं। इन चरणों में से एक – एक चरण महत्वपूर्ण हैं। अगर अभियार्थी किसी एक चरण में भी विफल होता हैं तो वो आगे के चरण में नही जा पाता हैं और उसे वापस से शरू के चरण से शुरुआत करनी होती हैं। 

प्रारंभिक परीक्षा 

यह परीक्षा का पहला चरण हैं। इस परीक्षा में वे अभियार्थी बैठते हैं जो इस परीक्षा के लिए आवेदन करते हैं। आवेदन करने से पहले आवेदकों से निवेदन हैं की वे अपनी योग्यता को एक बार जरुर जांच ले, उसके बाद ही आवेदन करे। यह परीक्षा ऑब्जेक्टिव स्तर की होती हैं जिसमे 2 पेपर होते हैं। इस परीक्षा में पास होने के बाद अभियार्थी अगले चरण में चले जाते हैं। 

मुख्य परीक्षा 

प्रारम्भिक परीक्षा को पास करने के बाद अभियार्थी अगले चरण में यानि मुख्य परीक्षा में पहुच जाता हैं। यह परीक्षा सब्जेक्टिव परीक्षा होती हैं जिसमे 9 पेपर होते हैं। इस परीक्षा में 1 ऑप्शनल सब्जेक्ट होता हैं जो की 500 नंबर का होता हैं और इसमें 2 पेपर होते हैं। इस परीक्षा को अगर अभियार्थी पास कर लेते हैं तो वो उसके बाद अगले चरण में चले जाते हैं। 

इंटरव्यू

मुख्य परीक्षा के बाद जो भी अभियार्थी मुख्य परीक्षा में पास होता हैं उन्हें अंतिम चरण में यानी इंटरव्यू में भेजा जाता हैं। इस परीक्षा के चरण में उन सभी अभियार्थियों का साक्षात्कार किया जाता हैं जो इस चरण में आते हैं। इसके बाद इस परीक्षा में जो भी नंबर अभियार्थियों को प्राप्त होते हैं उनको मुख्य परीक्षा के नंबर के साथ जोड़ा जाता हैं उसके बाद एक फाइनल मेरिट लिस्ट बनती हैं। उसके बाद फाइनल सिलेक्शन होता हैं और नंबर और रैंक के आधार पर ही पोस्ट दी जाती हैं जैसे आईएएस, आईपीएस आईएफएस इतियादी। 

इतना सब होने के बाद एक सामान्य अभियार्थी एक आईएएस बनता हैं। हालाँकि यह देखने में जितना आसान हैं उतना आसान नही हैं। 

आईएएस की तैयारी कैसे करे ?

आईएएस की तैयारी करने के लिए आपको एक विषय नही बल्कि कई तरह की विषय पढनी होती हैं। इसके लिए आपको जो भी विषय पढने होते हैं वो ज्यादातर कलां संकाय से जुड़े होते हैं। आईएएस के लिए भी विषय पढने होते हैं वो इस प्रकार हैं। 

  • इतिहास
  • राजनीति और संविधान
  • अर्थशास्त्र
  • विज्ञान
  • कंप्यूटर और तकनीक
  • भूगोल 

यह तो कुछ मुख्य विषय हैं जो आवश्यक हैं इसके अलावा हिंदी और अंग्रेजी भी पढना बेहद जरुरी होता हैं। इन सब के अलावा एक ऑप्शनल विषय भी पढनी होती हैं, यह विषय कौनसी होगी उसके बारे में भी आप खुद निर्धारित कर सकते हैं। 

आईएएस बनने के लिए कोचिंग जरुरी हैं क्या ? 

कोचिंग की जरूरत हैं या नही इस बात का इस पर निर्भर करता हैं की आप कोचिंग किस स्तर से शुरू कर रहे हैं। वैसे अगर आप हमारी माने तो इसमें कोचिंग की जरूरत नही हैं। परन्तु फिर भी आप कोचिंग करना चाहते हैं तो यह आप पर निर्भर करता हैं। 

कोचिंग करने से पहले आप इस बात का निर्धारण कर ले की आप पढाई किस तरह से कर रहे हैं। उसके बाद ही इस बात का फैसला ले। 

काम के साथ आईएएस की तेयारी कैरे ? 

अगर आप कोई नौकरी या कही काम कर रहे हैं और उसके साथ ही इस की तेयारी करना चाहते हैं तो इसके लिए भी आपके पास कई सारे आप्शन हैं जिसकी मदद से आप घर पर रहकर या काम से साथ पढाई कर सकते हैं। परन्तु इसके लिए समय की प्रबंधता जरुरी हैं। अगर आपके पास समय प्रबंधन सही है तो आप जीवन में हर मुकाम हासिल कर सकते हैं। 

अंतिम शब्द

इस लेख में आपको आईएएस कैसे बने और आईएएस की तैयारी कैसे करे के बारे में बताया गया हैं। 

1 thought on “IAS कैसे बने ? आईएएस की तैयारी कैसे करे ?”

Leave a Comment