Business Ideas : घर पर रहकर कमाओगे लाखों रूपए महीना, जानिए ये नया बिज़नेस

दोस्तों, आपने सोया मिल्क का नाम तो सुना ही होगा सोया मिल्क का उपयोग दूध, दही और पनीर जैसे कई सारे पदार्थों को बनाने में किया जाता है जिसकी डिमांड हर वक्त रहती है। आपको बता दे की सोयाबीन में fat नही पाया जाता है और प्रोटीन भरपूर मात्रा में पाया जाता है। इसमें मुख्य सोयाबीन ही होता है और सोयाबीन के सेवन से बच्चो के अन्दर बहुत से पोष्टिक आहार जाते है। 

जैसा की आपको पता होगा की गाय और भैंस का दूध पाचन करने में अच्छा नही होता है लेकिन वहीं पर सोया मिल्क बहुत जल्दी पच जाता है जिसके कारण इसका सेवन डायबिटीज के रोगियों को लाभ पहुंचाता है। 

सोयाबीन क्या होता है ?

soyabean image

आपको अगर नहीं पता है की सोयाबीन क्या होता है तब मैं आपको बता दूं की तह गाय और भैंस के दूध की तरह ही होता है जिसको सोयाबीन के बीजों की सहायता से बनाया जाता है। सबसे बड़ी बात की यह दूध से सस्ता पड़ता है और इसके उपयोग से हम दही, पनीर और दूध से बनी कई चीजे आसानी से बना सकते है। 

Soya milk कैसे बनाए ?

आपको बता दे की सबसे पहले आपको अपने आस पास की मार्केट से सोया खरीदना है और फिर आपको निम्नलिखित चीजों की जरूरत होगी –

  • सोयाबीन के बीजों की जरूरत पड़ती है।
  • RO Water बहुत जरूरी है।
  • Sugar की जरूरत होगी।
  • Flavours की जरूरत होती है।
  • पैकिंग बोतल की जरूरत होगी।

Soya milk बनाने के लिए मशीन ? 

अगर आप सोया मिल्क बनाते तब आपको निम्नलिखित मशीनों की जरूरत पड़ती है –

  • सोया ग्राइंडर मशीन
  • स्टीम मशीन
  • ब्वायलर मशीन
  • पनीर प्रेस मशीन

Soya milk बनाने के लिए स्थान 

आप जब सोया मिल्क बनाते है तब आपको 200 वर्ग मीटर से 250 वर्ग मीटर तक की जगह की जरूरत होती है। इसके अलावा जिस भी स्थान पर आप सोया मिल्क बनाए वहां पर बिजली और पानी की व्यवस्था होनी चाहिए।

Soya milk कैसे बनाए ?

आप के पास अगर सही जगह, बर्तन, मशीन और सामग्री है तब आप इसको निम्नलिखित तरीके से बना पाएंगे –

  • सर्वप्रथम आपको सोयाबीन के बीज को गर्म पानी में 8 से 10 घंटे तक भीगो कर रखना है।
  • अब गर्म पानी से निकाल कर साफ पानी से 2-3 बार धो ले। 
  • अब दिया ग्राइंडर मशीन में ro वाटर के साथ सोयाबीन के बीज डाल दे। 
  • निकले हुए ओकाया और पहले वाले दूध को फिर से ग्राइंडर में डाल दे। 
  • अब आपका दूध तैयार है किंतु इसके टेंपरेचर को सही करने के लिए आप इसको मशीन की सहायता से गर्म कर ले। इसका टेंपरेचर 100 से 110 डिग्री तक होना चाहिए।

Soya milk के फायदे ?

इसके कई सारे फायदे है इसलिए इसकी सलाह अक्सर दी जाती है इसके ये फायदे निम्नलिखित है –

  • इसके सेवन से हड्डियां मजबूत होती है।
  • इसके सेवन से मोटापा कम होता है और ये मोटे लोगो के लिए एक अच्छा उपाय है।
  • इसके सेवन से हमको कील मुहांसे में राहत मिलती है।
  • इसकी सहायता से हम अपनी पाचन क्रिया को बेहतर बना सकते है।
  • इसके सेवन से हमको मधुमेह में बहुत लाभ मिलता है।

निष्कर्ष: ( SOYA MILK MAKING BUSINESS IDEAS )

 दोस्तों, आज मेने आपको सोया मिल्क के व्यापार से जुड़ी कई जानकारी दी है जिससे अगर आप भी इसका व्यापार करने जा रहे है तो आपको सारी जानकारी मिल गई होगी।

मैं आशा करता हूं की मेरे लेख से आपको लाभ पहुंचेगा और आप इस व्यापार में सफल रहेंगे और आपके मन में soya milk business से जुड़े जितने भी सवाल थे वह समाप्त हों गए होंगे फिर भी अगर आपके मन में कोई सवाल है तो आप हमसे comment के माध्यम से उसका उत्तर जान सकते है। 

Leave a Comment